Yeh Kaanto Bhari Dagar Hai_Song Lyrics

Chorus:
Yeh kaanto bhari dagar hai, jis par hai humko chalna
Kabhi girna, phir sambhalna
Kabhi hausla na khona
Yeh kaanto bhari dagar hai, jis par hai humko chalna

Stanza 1:
Kathinaiyon mein teri, jab jab hase zamaana
Tu beta hai Khuda ka, kabhi aansu na bahana
Ye aasha bhari dagar hai, jis par hai humko chalna
Kabhi girna, phir sambhalna
Kabhi hausla na khona
Yeh kaanto bhari dagar hai, jis par hai humko chalna

Stanza 2:
Tu buraaiyon ka badla, naa buraaiyon se lena
Tu gawah hai Maseeh ka, ek misaal banke rehna
Ye pareeksha bhari dagar hai, jis par hai humko chalna
Kabhi girna, phir sambhalna
Kabhi hausla na khona
Yeh kaanto bhari dagar hai, jis par hai humko chalna

मुखड़ा:
यह काँटों भरी डगर है, जिस पर है हमको चलना
कभी गिरना फिर संभलना
कभी हौसला ना खोना
यह काँटों भरी डगर है, जिस पर है हमको चलना

अंतरा १:
कठिनाईयों में तेरी, जब जब हसे ज़माना
तू बेटा है खुदा का, कभी आँसू ना बहाना
यह आशा भरी डगर है, जिस पर है हमको चलना
कभी गिरना फिर संभलना
कभी हौसला ना खोना
यह काँटों भरी डगर है, जिस पर है हमको चलना

अंतरा २:
तू बुराइयों का बदला, ना बुराइयों से लेना
तू गवाह है मसीह का, एक मिसाल बनके रहना
यह परीक्षा भरी डगर है, जिस पर है हमको चलना
कभी गिरना फिर संभलना
कभी हौसला ना खोना
यह काँटों भरी डगर है, जिस पर है हमको चलना

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

search previous next tag category expand menu location phone mail time cart zoom edit close